पररव्वान के मिावीर

alisonbellwood

टिकाऊ विकास

के लिए वैश्वक लक्ष्य


आभार:

चित्रकथा जो देशों को एक करें: परिवर्तन के महावीर

कहानी -

कला -

Josh Elder, Natabara Rollosson

और Sean Southey

Grace Allison और Karl Kesel

अभिलेख - Type One International -

Amy Tookey

समपादकीष्य - Josh Elder

परिकलपना - Ed Roeder

अनुवाद प्रबंधक Translation By Design

हिन्दी अनुवाद: मोनिका अधष्ये

चित्रकथा जो देशों को एक करें: परिवर्तन के महावीर © 2015 के सर्वाधिकारदी हैं Project Everyone, PCI Media Impact और Reading With Pictures.

ष्यि वस्ु आरोपण-गैरवाणिज्ष्यक-अपरिवर्तनीष्य्ा ४.0

अंतर्राष्ट्दीष्य रचनातमक जन अनुज्ा

के तहत मुफ् बांटदी जा सकती है।.

अधिक जानकारदी के लिए:

https://creativecommons.org/licenses/by-nc-nd/4.0


इस चित्रकथा को कै से पढ़ें

इसीलये संयुक्त राष्ट्र संघ ने १९३ देश म

७० लाख लोग से बात क और उनसे साल

२०३० तक सब का सब ठक करने के उनके

वचार मांगे।

उन लाख संवाद से नकले ह टकाऊ

वकास के वैिश्वक लय -

अनुशीर्षकों में बहुत तर

कथन होता है, पर कभी

कभी संवाद ष्या कोई

अनष्य जानकारदी शामिल

हो सकती है।

हर पैनल में है क्रिष्या

का एक भाग। पैनल

क्कसी भी आकार ष्या

नाप के हो सकते हैं।

पैनलों को बाएं से दाईं

ओर और ऊपर से नीचे पढ़ें।

आथर्क, सामािजक और पयार्वरक वकास

क एक योजना जो भवष्य के संसाधन को

जोखम म नहं डालते हुए आज क ज़रूरत

को पूरा कर सके

शबद गुबबारों में पात्रों के

संवाद होते हैं। गुबबारे

की पू ँछ बोलने वाले की

तरफ टदीपती है। कभी

कभी विभिनन रंग, आकार

ष्या अक्षरों दवारा पात्र का

चरित्र दिखाष्या जाता है।

हाशिया माने पैनेलों के बीच

के अंतर। ष्यिाँ पाठक को दो

पैनेलों के बीच की क्रिष्या का

अनुमान करना है।

धीरज रखें! कथा और चित्र दोनों पढ़ लें।

दो पैनलों के बीच कष्या हो रहा है इसका अनुमान लगाष्यें।


यह पृथ्वी है। गृह म

से सबसे ख़ास।

...कु छ कु दरती...

...कु छ मानव रची।

वस्मयकार वश्व...


पृथ्वी म रहने वाले अरब पृथ्वी

वासय से वस्मयकारक कु छ

भी नहं है।

क्यक हम सब म

कु छ खास है:

एक बहतर दुनया

क कल्पना करने

और इसे सच करने

के लए कायर् योजना

बनाने क मता।

और क्या यह एक

तरह क महाशिक्त

नहं है?

अगर हम दूसर क

मदद के लए इस

शिक्त का प्रयोग कर,

तो क्या हम सब...

महावीर नहं बन

जाते?


अच्छ बात ह है क्यक पृथ्वी को वीर

क सख्त ज़रुरत है, जो उसके पयार्वरण

क रा कर, और लोग को नाइंसाफ,

गरबी और असामान्यता से बचा कर,

सबके मानवाधकार क रा कर.

लेकन, सब मल जाएँ तो

कु छ अलग ह बात है।

पर कोई नहं -

एकजुट होकर हम हर समस्या

का हल नकाल सकते ह और हर

चुनौती पर वजय पा सकते ह।

महावीर भी नहं -

इतना मज़बूत नहं हो

सकता जो दुनया का

बोज अके ले उठा सके

हम बस एक

योजना क ज़रुरत है।


इसीलये संयुक्त राष्ट्र संघ ने १९३

देश म ७० लाख लोग से बात क

और उनसे साल २०३० तक सब का

सब ठक करने के उनके वचार मांगे।

उन लाख संवाद से नकले ह टकाऊ वकास के

वैिश्वक लय -

आथर्क, सामािजक और पयार्वरक वकास क एक

योजना जो भवष्य के संसाधन को जोखम म नहं

डालते हुए आज क ज़रूरत को पूरा कर सके


इन १७ वैिश्वक लय को लोग और वश्व

के लए एक सवर्श्रेष्ठ सूचपत्र के नज़रए

से देख - एकजुट होकर काम करने का एक

तरका ताक हम इस दुनया क सबसे बड़ी

समस्याओं को सुलझा सक ।

आसान नहं है, पर नामुमकन भी नहं।

अगर लयसाधन कामयाब रहा तो यह

वश्व हम सब के लए एक और भी

नष्प, और भी संपन्न और और भी

सुरत जगह बन जायेगी।

न्यू यॉकर् म संयुक्त राष्ट्र संघ

का मुख्यालय

आसान नहं है, पर नामुमकन भी नहं।

संयुक्त राष्ट्र संघ क महासभा जहां राष्ट्रय प्रतनध

अगर लक्श्यसाधन कामयाब रहा तो यह

नणर्य लेने के लए एकत्रत होते ह


के लए ैक लय








































के लए ैक लय

लय बनाना बस एक शुरुआत है।

लय को सच्चाई म बदलने के लए

सबको कायर् योजना बनानी होगी।

और सब का अथर्

आप भी।

तो आप कसलए रुके हुए ह?

पन्ना घुमाकर देख क आप क्या

कर सकते ह!


१. लय के बारे

म सीख

लय को समझ और यह सीख

क यह आपके अपने जीवन म

क्य अहम ह?


२. सबको बताएं

लय को कामयाब बनाने का एक ह तरका है -

उन्ह मशहूर बनाना। तो सबको अपने रचनात्मक

तरक से वैिश्वक लय के बारे म बताएं और

उन्ह भी वहं करने म प्रोत्साहत कर!

#globalgoals दुनया बदल सकते ह, पर हम

एक साथ काम करना होगा! #telleveryone


३. कु छ

कर

जो संगठन ह िजनके

मामले आपके लए

महत्त्वपूणर् ह, उनसे जुड़

जाएँ। अपनी सरकार के

साथ मलकर काम कर

और अपने ह समाज म

परवतर्न के महावीर बन

जाएँ!


क्यक बात तो यह है: हम सबम एक ख़ास

बात है, एक अनोखी मता जो दुनया -

और इसम अपना जीवन - बदलकर बहतर

बनाने म मदद कर सकती है।

तो अपनी

आत्मशिक्त ढूंढ और

दुनया म बाँट!

एक साथ हम कु छ भी

हासल कर सकते ह!


दुनया का सबसे बड़ा पाठ एक सहयोगपूणर् शा योजना है जो संयुक्त राष्ट्र संघ के टकाऊ

वकास के वैिश्वक लय से जुडी हुई है। यह योजना इस बात का सबूत है क १७वा लय

"लय के लए भागीदारयां" कतना अहम है और हमारे सारे भागीदार के सहयोग के बना

असंभव था।

हमार संस्थापक टम का धन्यवाद:

यंत्रचालन: वस्तार: अनुवाद:


दुनया भर म हमारे सहकारय को हमारा बहुत बहुत धन्यवाद:

Think Global www.think-global.org.uk के सहयोग से बने पाठ। नष्प और टकाऊ वश्व के लए शण प्रचार।

टकाऊ वकास

के लए वैिश्वक लय

Hindi (हिंददी)

WORLD’S

LARGEST

LESSON

More magazines by this user
Similar magazines